WHO: मंकीपॉक्स पर आपात समिति की बैठक, संक्रमण के 14 हज़ार मामले

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने मंकीपॉक्स के बारे में ताज़ा स्थिति पर विचार करने के लिये, गुरूवार को आपात समिति की बैठक फिर से आयोजित की है. अनेक देशों में फैल रही इस बीमारी के मामले अभी तक वैश्विक स्तर पर 14 हज़ार की संख्या को पार कर गए हैं और छह देशों में पहले मामले गत सप्ताह दर्ज किये गए हैं.

आपात समिति की बैठक पहली बार पिछले महीने हुई थी मगर उसमें मंकीपॉक्स को अन्तरराष्ट्रीय चिन्ता वाली सार्वजनिक स्वास्थ्य आपदा घोषित करने के विरोध में निर्णय लिया गया था.

यह आपात समिति गुरूवार को तमाम तथ्यों और परिस्थितियों पर ग़ौर करने के बाद, आगामी दिनों में अपना निर्णय घोषित करेगी.

यूएन स्वास्थ्य एजेंसी के मुखिया डॉक्टर टैड्रॉस ऐडहेनॉम घेबरेयेसस कहा कि वो यह समझते हैं कि इस बीमारी के बारे में कोई भी निर्णय लेने से पहले अनेक तथ्यों व कारकों पर संज्ञान में लेना होगा, जिसमें सार्वजनिक स्वास्थ्य का संरक्षण ही, अन्तिम लक्ष्य है.

उन्होंने समिति के सदस्यों व सलाहकारों को बैठक शुरू करते समय अपनी टिप्पणी में कहा कि इस आपात समिति ने इस संक्रमण के विभिन्न आयामों के बारे में ज़्यादा जानकारी उपलब्ध कराने में पहले ही मदद की है.

उन्होंने कहा, जैसे-जैसे संक्रमण बढ़ रहा है, विभिन्न सन्दर्भों व परिदृश्यों में उपलब्ध सार्वजनिक स्वास्थ्य कार्यक्रमों व नीतियों की प्रभावशीलता का आकलन किया जाना महत्वपूर्ण है, जिससे इस बारे में बेहतर समझ विकसित हो सके कि क्या असरदार है और क्या नहीं.

जीवन जोखिम वाला भेदभाव

मंकीपॉक्स, वायरस के ज़रिये फैलने वाली एक दुर्लभ बीमारी है और जो मुख्य रूप से उष्णकटिबन्धीय वर्षा वाले क्षेत्रों में ज़्यादा फैलती है, जिनमें अफ़्रीका के केन्द्रीय और पश्चिमी इलाक़े शामिल हैं. अलबत्ता, हाल के समय में इसका संक्रमण अन्य क्षेत्रों में भी फैला है.

यूएन स्वास्थ्य एजेंसी के सभी छह क्षेत्रों में स्थित 71 सदस्य देशों में, इस वर्ष मंकीपॉक्स के संक्रमण के 14 हज़ार से ज़्यादा मामले दर्ज किये गए हैं.

कुछ देशों में इसके संक्रमण फैलाव में कमी आई है तो कुछ अन्य देशों में इसका संक्रमण बढ़ रहा है. जिन देशों में मंकीपॉक्स के संक्रमण का पता लगाने की क्षमता और इसके उपचार के लिये वैक्सीन उपलब्ध नहीं हैं, वहाँ इस संक्रमण पर नज़र रखना और इसकी रोकथाम कठिन है.

डॉक्टर टैड्रॉस ने बताया कि छह देशों ने मंकीपॉक्स के संक्रमण के मामले पहली बार गत सप्ताह रिपोर्ट किये हैं और इस बीमारी से संक्रमित होने वाले ज़्यादातर मरीज़ ऐसे पुरुष हैं जो पुरुषों के साथ यौन सम्बन्ध बनाते हैं.

उन्होंने इस वास्तविक चिन्ता के बारे में भी आगाह किया है कि पुरुषों के साथ यौन सम्बन्ध बनाने वाले पुरुषों को कलंकित किया जा सकता है या उन पर ही आरोप थोपा जा सकता है... जिससे इस संक्रमण की निगरानी व रोकथाम करना और भी ज़्यादा मुश्किल हो जाएगा.

मंकीपॉक्स का उपचार

यूएन स्वास्थ्य एजेंसी के प्रमुख ने कहा कि मंकीपॉक्स के ख़िलाफ़ सर्वाधिक शक्तिशाली औज़ार – सूचना है.

उन्होंने कहा, मंकीपॉक्स से संक्रमित लोगों के पास जितनी ज़्यादा जानकारी होगी, वो उतने ही ज़्यादा ख़ुद की हिफ़ाज़त करने में समर्थ होंगे. दुर्भाग्य से, पश्चिमी व मध्य अफ़्रीका में स्थित देशों ने विश्व स्वास्थ्य संगठन के साथ जो जानकारी साझा की है, वो अभी बहुत सीमित है.

यूएन स्वास्थ्य एजेंसी अपने सभी क्षेत्रों में प्रभावित समुदायों के साथ निकट सम्पर्क के साथ काम कर रही है, और संक्रमण जैसे-जैसे फैल रहा है, एजेंसी ने सर्वाधिक प्रभावित आबादियों के लिये रोकथाम उपायों तक लक्षित पहुँच बढ़ाए जाने की पुकार भी लगाई है.

Share this story