‘समुदायों के उद्धारक और पीढ़ियों के संरक्षक’ नेलसन मण्डेला को अभिवादन

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंतोनियो गुटेरेश ने दक्षिण अफ़्रीका में रंगभेद की नीति समाप्त होने के बाद के देश के प्रथम काले राष्ट्रपति बने और नस्लवादी न्याय के प्रतीक नेलसन मण्डेला को उनकी याद में अन्तरराष्ट्रीय दिवस के अवसर पर अपने सन्देश में, "हमारे समय की एक विशाल हस्ती" बताते हुए कहा कि वो आज भी हमारे लिये " नैतिकता का उदाहरण व सन्दर्भ" बने हुए हैं.

महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने नस्लवादी रंगभेद शासन का विरोध करते हुए लगभग तीन दशक जेल में बिताने वाले इस महान नेता को एक स्वतन्त्र और लोकतांत्रिक दक्षिण अफ़्रीका का पुरोधा मानते हुए, "अद्वितीय साहस व अनन्य उपलब्धि के नेता; और शान्त गरिमा व गहरी मानवतापूर्ण के एक व्यक्ति” बताया.

नेलसन मण्डेला - या मदीबा नाम से भी लोकप्रिय - "समुदायों का कल्याण करने वाले और पीढ़ियों के संरक्षक थे." महासचिव ने उनकी सराहना करते हुए कहा कि वो सदा दृढ़ निश्चय व करुणा और प्रेम के साथ, स्वतंत्रता एवं गरिमा के मार्ग पर चले." 

यूएन प्रमुख ने कहा, उन्होंने अपने जीवन में दिखाया कि हम में से प्रत्येक के पास सर्वजन के लिये, एक बेहतर भविष्य का निर्माण करने की क्षमता और ज़िम्मेदारी है.

दक्षिण अफ़्रीका के राष्ट्रपति, नेलसन मण्डेला (बाएँ) यूएन महासभा के 53वें सत्र को सम्बोधित करने के लिये सभागार में प्रवेश करते हुए. उनके साथ हैं, संयुक्त राष्ट्र की प्रोटोकॉल प्रमुख, नादिया यूनिस. (21 सितम्बर,1998)
UN Photo/Evan Schneider
दक्षिण अफ़्रीका के राष्ट्रपति, नेलसन मण्डेला (बाएँ) यूएन महासभा के 53वें सत्र को सम्बोधित करने के लिये सभागार में प्रवेश करते हुए. उनके साथ हैं, संयुक्त राष्ट्र की प्रोटोकॉल प्रमुख, नादिया यूनिस. (21 सितम्बर,1998)

उम्मीद की तलाश

“हमारी दुनिया आज युद्ध से त्रस्त है; आपात स्थिति से व्यग्र; जातिवाद, भेदभाव, निर्धनता और असमानताओं से ध्वस्त; और जलवायु आपदा से भी ख़तरे में है. आइये, हम नेलसन मण्डेला के उदाहरण में उम्मीद और उनके नज़रिये से प्रेरणा हासिल करें.”

संयुक्त राष्ट्र महासचिव ने अपने वीडियो सन्देश में कहा कि आज और हर दिन कार्रवाई करते रहना ही, नेलसन मण्डेला की विरासत का सम्मान करने का उचित तरीक़ा है. उन्होंने कहा कि दुनियाभर में नफ़रत भरी भाषा में बढ़ोत्तरी के बीच, सर्वजन का कर्तव्य है कि वो इसके ख़िलाफ़ आवाज़ बुलन्द करें और मानवाधिकारों की हिमायत में लिये खड़े हों – “विविधता में समृद्ध, गरिमा में समान, एकजुटता में मज़बूत – अपनी साझा मानवता को गले लगाकर.”  

यूएन महासचिव ने कहा कि हम साथ मिलकर मदीबा का अनुसरण करके, अपनी दुनिया को अधिक न्यायपूर्ण, करूणामय, समृद्ध व सर्वजन के लिये टिकाऊ बना सकते हैं.

दक्षिण अफ़्रीका के पूर्व राष्ट्रपति, नेलसन मण्डेला दिसम्बर 1991 को, न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में एक सम्वाददाता सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए.
UN Photo/John Isaac
दक्षिण अफ़्रीका के पूर्व राष्ट्रपति, नेलसन मण्डेला दिसम्बर 1991 को, न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में एक सम्वाददाता सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए.

न्यूयॉर्क में विशेष कार्यक्रम का आयोजन

नेलसन मण्डेला अन्तरराष्ट्रीय दिवस पर, कार्रवाई और प्रेरक परिवर्तन की थीम के तहत, सोमवार को न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में एक विशेष कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है, जहाँ ड्यूक ऑफ ससेक्स (ब्रिटेन), प्रिंस हैरी मुख्य भाषण देंगे.

साथ ही, इस अवसर पर संयुक्त राष्ट्र उप महासचिव, आमिना जे मोहम्मद और महासभा अध्यक्ष अब्दुल्ला शाहिद भी अपने विचार व्यक्त करेंगे.

Share this story