हेती: भूकम्प प्रभावितों की मदद के लिये 18 करोड़ डॉलर की अपील

संयुक्त राष्ट्र और उसके साझीदार संगठनों ने हेती के दक्षिण-पश्चिमी क्षेत्र में दो सप्ताह पहले आए भीषण भूकम्प से प्रभावित हुए लोगों की मदद के लिये 18 करोड़ 73 लाख डॉलर की सहायता धनराशि की अपील की है.

बुधवार को जारी की गई इस अपील के ज़रिये पाँच लाख लोगों के लिये शरण, जल, साफ़-सफ़ाई, आपात स्वास्थ्य देखभाल, भोजन, संरक्षण व जल्द पुनर्बहाली को सुनिश्चित करने का प्रयास किया जाएगा.

हेती में 14 अगस्त को, रिक्टर पैमाने पर 7.2 तीव्रता वाले भूकम्प से जान-माल का भीषण नुक़सान हुआ है, दो हज़ार 200 लोगों की मौत हुई है और 12 हज़ार से अधिक घायल हुए हैं.

बताया गया है कि इस आपदा में 13 हज़ार से अधिक घर ध्वस्त या क्षतिग्रस्त हो गए हैं और सड़कों व अन्य बुनियादी ढाँचों को भी नुक़सान पहुँचा है.

भूकम्प के दो ही दिन बाद हेती, चक्रवाती तूफ़ान ग्रेस की चपेट में आ गया, जिससे प्रभावित इलाक़ों में मूसलाधार बारिश हुई, बाढ़ आई और भूस्खलन हुआ.

एकजुटता की दरकार

इन प्राकृतिक आपदाओं के तत्काल बाद, हेती की सरकार के नेतृत्व में व राहत साझीदार संगठनों की मदद से व्यापक स्तर पर राहत अभियान शुरू किया गया है.

तलाश एवँ बचाव कार्य में जुटी टीमें, जीवितों को ढूँढने और दूरदराज़ के प्रभावित इलाक़ों में तत्काल चिकित्सा देखभाल पहुँचाने में जुटी हैं.

हेती में यूएन के रैज़ीडेण्ट व मानवीय राहत समन्वयक ब्रूनो लेमारिकस ने कहा, "हेती व यहाँ की जनता को दुनिया की एकजुटता की पहले से कहीं अधिक आवश्यकता है."

उन्होंने ध्यान दिलाया कि एक ही समय में हेती को अनेक प्रकार के संकटो का सामना करना पड़ रहा है.

यूएन के वरिष्ठ अधिकारी ने हेती तक मदद पहुँचाने वाले देशों का आभार जताया है और सचेत किया है कि इस पीड़ा से उबरते समय वर्ष 2010 के विनाशकारी भूकम्प के दौरान लिये गए सबक़ को याद रखना होगा.

पीडितों को सहारा

हेती में भूकम्प से आठ लाख लोग प्रभावित हुए हैं और साढ़े छह लाख ज़रूरतमन्दों की शिनाख़्त की गई है.

बुधवार को जारी इस अपील में सबसे निर्बल पाँच लाख लोगों तक पहुँचने का लक्ष्य रखा गया है.

संयुक्त राष्ट्र की उपप्रमुख आमिना मोहम्मद ने पिछले सप्ताह ही हेती का दौरा किया था, और त्रासदीपूर्ण मानवीय परिस्थितियों, स्थानीय समुदायों की पीड़ा का प्रत्यक्ष अनुभव किया.

उन्होंने बुधवार को अपने एक ट्वीट सन्देश में अन्तरराष्ट्रीय समुदाय से यूएन व उसके अन्तरराष्ट्रीय साझीदारों के लिये समर्थन की पुकार लगाई है.

उन्होंने कहा है कि हेती को इस आपदा से उबारने, महत्वपूर्ण सामग्रियों का प्रबन्ध करने और बेहतर पुनर्निर्माण के लिये उनके समर्थन की आवश्यकता होगी.

इस बीच, हेती में हाल के महीनों में आपराधिक गुटों की हिंसा में तेज़ी आई है जिससे हेती की राजधानी के आसपास के इलाक़ों में 19 हज़ार लोग विस्थापित हुए हैं.

इन हालात में भूकम्प प्रभावितों तक मानवीय सहायता पहुँचाना मुश्किल हो गया है.

इसके मद्देनज़र यूएन में आपात राहत मामलों के उप समन्वयक रमेश राजासिंहम में ज़रूरतमन्दों तक तत्काल पहुँचने के लिये रक़म के इन्तज़ाम और रास्तों को खुला रखने की अहमियत पर बल दिया है.

Share this story