यूएन न्यूज़: कॉप26 जलवायु प्रश्नोत्तरी

संयुक्त राष्ट्र जलवायु सम्मेलन कॉप26 और चर्चा में छाए रहने वाले अन्य बड़े मुद्दों के बारे में आप कितना जानते हैं? यूएन न्यूज़ ने एक जलवायु कार्रवाई प्रश्नोत्तरी (क्विज़) तैयार की है, जोकि आपके लिये, अपने ज्ञान को परखने का अवसर है (प्रश्नों के उत्तर नीचे उपलब्ध हैं)...

1) जलवायु परिवर्तन के बारे में यह किसने कहा था: ‘हमने इस ग्रह की प्रणाली के साथ अनजाने में ही एक व्यापक परीक्षण शुरू कर दिया है.’

a) प्रकृति-सम्बन्धी विषयों पर प्रख्यात टीवी प्रस्तुतकर्ता डेविड ऐटनबरा

b) ब्रिटेन की पूर्व प्रधानमंत्री मार्गरेट थैचर

c) स्वीडन की जलवायु कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग 

2) संयुक्त राष्ट्र के केवल पाँच सदस्य देशों ने अभी तक वर्ष 2015 के ऐतिहासिक पैरिस समझौते को अनुमोदित (ratified) नहीं किया है. उनमें से एक का नाम बताइये (हर अतिरिक्त देश का नाम बताने के लिये लिये बोनस अंक भी हैं).

3)कोपनहेगन में हुए कॉप15 को एक विफलता के तौर पर देखा गया था, मगर इस सम्मेलन में एक प्रसिद्ध हस्ती का, भारत, चीन, दक्षिण अफ़्रीका और ब्राज़ील के नेताओं की निजी बैठक में बिना निमंत्रण के ही अचानक दाख़िल होना चर्चा में रहा. क्या आपको उस हस्ती का नाम मालूम है? 

a) कलाकार और कार्यकर्ता जॉर्ज क्लूनी 

b) बेल्जियम के लेखक, आलोचक और पाई फेंकने के लिये मशहूर नोएल गॉडिन)

c) अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा 

4) जलवायु परिवर्तन के नज़रिये से, मुम्बई, मयामी और मालदीव में क्या समानता है?

5) कॉप26 सम्मेलन स्कॉटलैण्ड में आयोजित हो रहा है, जोकि अनेक तरह से एक सुन्दर देश है, मगर गर्म, उजले व धूपदार मौसम के लिये नहीं जाना जाता है. सम्मेलन के दौरान, ग्लासगो में मौसम के पूर्वानुमान को, कौन सा स्कॉटिश शब्द सर्वोत्तम अभिव्यक्ति प्रदान करता है?

a) मोची (Mochie)

b) ड्रेच (Dreich)

c)  ड्रूकिट (Drookit)

6) समुद्री पौधों, वनों और मैनग्रोव, इन सभी के पास जलवायु-सम्बन्धी कौन सी महाशक्ति है?

7) कॉप26 के लिये कौन सा लोकप्रिय के-पॉप संगीत समूह को सदभावना दूत घोषित किया गया है?

a) बीटीएस

b) ब्लैकपिंक

c) एक्सटीसी 

8) कार्बन उत्सर्जन में कटौती के लिये, कॉप26 के दौरान देश अपनी योजनाएँ पेश करेंगे. इन योजनाओं के लिये शब्द समूह का कौन सा संक्षिप्त रूप (acronym) इस्तेमाल किया गया है?  

a) एनडीसी (NDC)

b) एसडीजी (SDG)

c) पीआरआई (PRI)

9) वो कौन सा एक शब्द है जिसकी वजह से ऐतिहासिक, 2015 पैरिस जलवायु समझौते पर अन्तिम चरण में वार्ता विफल होते-होते बची थी? 

a)    May

b)    Shall

c)    Must

10) यूएन महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने जलवायु परिवर्तन पर अन्तर-सरकारी पैनल (IPCC) की अगस्त में जारी रिपोर्ट को किस तरह व्याखित किया है? रिपोर्ट दर्शाती है कि ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जनों में त्वरित, सतत और व्यापक कटौती के बिना, वैश्विक तापमान में बढ़ोत्तरी को 1.5 डिग्री सेल्सियस तक सीमित रख पाने का लक्ष्य हासिल कर पाना पहुँच से दूर हो जाएगा.

a) जलवायु कार्रवाई के लिये एक बेहद अहम पड़ाव

b) जलवायु विनाश के रास्ते पर 

c) मानवता के लिये ‘कोड रैड’

उत्तर

  • 1) a) मार्गरेट थैचर. लौह महिला (Iron Lady) के रूप में प्रसिद्ध, पूर्व ब्रिटिश प्रधानमंत्री ने विश्वविद्यालय में रसायन शास्त्र की शिक्षा हासिल की थी, और वह जलवायु परिवर्तन के ख़तरों को बख़ूबी समझती थीं. उन्होंने 1988 में अपने एक भाषण के दौरान इसका ज़िक्र किया था. उससे अगले वर्ष, उन्होंने संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने एक भाषण में ऐसे ही भाव व्यक्त करते हुए कहा था कि पूरी दुनिया के समक्ष मौजूद पर्यावरणीय चुनौती से निपटने के लिये, पूरी दुनिया से ही, इसके अनुरूप जवाबी कार्रवाई की आवश्यकता है. उन्होंने आगाह किया था कि हर देश प्रभावित होगा और किसी के पास भी बचने का विकल्प नहीं है. औद्योगिक रूप से विकसित देशों को, अन्य देशों की मदद करने के लिये अतिरिक्त योगदान देना होगा.
     
  • 2) सन्धि मामलों के लिये संयुक्त राष्ट्र की एक वेबसाइट दर्शाती है कि ऐरीट्रिया, ईरान, इराक़, लीबिया और यमन ने अभी पैरिस समझौते का अनुमोदन नहीं किया है.
     
  • 3) c) पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा. सम्मेलन के समापन से ठीक पहले तक, अमेरिका और BASIC (ब्राज़ील, दक्षिण अफ़्रीका, भारत और चीन) समूह के देशों में समझौता नहीं हो पाया था. पूर्व राष्ट्रपति को जानकारी मिली कि इन देशों के नेता एक बैठक कर रहे थे. मीडिया की नज़रों के सामने, बराक ओबामा उस सम्मेलन कक्ष में पहुँचे, जहाँ भारत के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, ब्राज़ील के राष्ट्रपति लुइज़ इनेसियो लूला दा सिल्वा, और दक्षिण अफ़्रीका के राष्ट्रपति जैकब ज़ूमा उपस्थित थे. उन्होंने अपने आगमन की घोषणा, ज़ोर से यह बोलते हुए की “क्या आप तैयार हैं?”
     
  • 4) इन सभी पर, आने वाले दशकों में समुद्री जलस्तर बढ़ने की वजह से डूब जाने का ख़तरा है. अमेरिकी अन्तरिक्ष एजेंसी (NASA) के मुताबिक़, मुम्बई शहर, वर्ष 2050 तक जलमग्न हो सकतीा है. कुछ अध्ययन दर्शाते हैं कि मयामी, दुनिया के सर्वाधिक सम्वेदनशील तटीय शहरों में से है. और मालदीव, निचले तटीय इलाक़ों वाला एक द्वीपीय देश है, जोकि बहुत हद तक पर्यटन पर निर्भर है. बताया गया है कि मालदीव फ़िलहाल एक तैरता हुआ शहर बनाने की योजना पर काम कर रहा है ताकि डूबने से बचा जा सके.
     
  • 5) c) पूर्वानुमानों के अनुसार ग्लासगो में अगले सप्ताह भारी बारिश होगी, इसलिये मौसम को बयान करने के लिये, ड्रूकिट (drookit) सबसे उपयुक्त शब्द है. यह शब्द, बारिश से पूरी तरह भीग जाने पर इस्तेमाल किया जाता है. ड्रेच (dreich) उदास, बादलों से घिरे मौसम का मिज़ाज बताता है, मगर हालात मोची (mochie) होने की सम्भावना कम ही है, जोकि गर्म, चिपचिपे और उमस भरे मौसम के लिये प्रयोग किया जाता है.
  • 6) ये सभी जलवायु परिवर्तन से निपटने के लिये प्रकृति-आधारित समाधान हैं और कार्बन सोखने के बड़े स्रोत (carbon sinks) हैं. अन्तर्जलीय घास के जंगलों में, वातावरण से हानिकारक ग्रीनहाउस गैसों को सोख लेने की क्षमता है; वनों की पुनर्बहाली के कार्यक्रमों के ज़रिये भूमि क्षरण में कमी लाई जा रही है और कार्बन को सोखा जा रहा है; और संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम ने, मैनग्रोव को जलवायु संकट का एक सुपर समाधान क़रार दिया है. मैनग्रोव में वर्षावन की तुलना में चार गुना अधिक कार्बन डाइऑक्साइड को अवशोषित करने की क्षमता है.
     
  • 7) b) ब्लैकपिंक को इस वर्ष फ़रवरी महीने में कॉप26 के लिये पैरोकार नियुक्त किये जाने की घोषणा की गई थी. बीटीएस, संयुक्त राष्ट्र के मित्र हैं और उन्होंने इस वर्ष महासभा सत्र के उच्चस्तरीय सत्र के दौरान कार्यक्रम में हिस्सा लिया. इस दौरान, यूएन मुख्यालय में एक म्यूज़िक वीडियो भी फ़िल्माया गया. हालाँकि, एक्सटीसी, कोरियाई पॉप समूह नहीं है, और यह 1970 के दशक का एक अंग्रेज़ पॉप बैण्ड है.
     
  • 8) a) एनडीसी (NDC), जिसका अर्थ है राष्ट्रीय निर्धारित योगदान, या जलवायु कार्रवाई के लिये, राष्ट्रीय स्तर पर निर्धारित योजनाएँ. एसडीजी, टिकाऊ विकास लक्ष्यों का संक्षिप्त रूप है, जोकि 2030 के टिकाऊ विकास एजेण्डा के तहत निर्धारित 17 लक्ष्य हैं. पीआरआई (PRI) यानि, ज़िम्मेदार निवेश के लिये सिद्धान्त, जोकि संयुक्त राष्ट्र समर्थित, वित्तीय उद्योग जगत के विशेषज्ञों का एक नैटवर्क है. यह नैटवर्क टिकाऊ विकास लक्ष्यों को बढ़ावा देने के लिये प्रयासरत है.
     
  • 9) b) ‘Shall’. पैरिस में कॉप21 के दौरान, समझौते की घोषणा के बाद उत्साह और ख़ुशी की लहर सभी को याद है, मगर हालात दूसरे भी हो सकते थे. अन्तिम कुछ मिनटों में, अमेरिकी प्रतिनिधिमण्डल की क़ानूनी टीम ने देखा कि उत्सर्जनों में कटौती के लिये, समझौते के एक खण्ड में “Should” (चाहिये) के बजाय “Shall” (करेंगे) का इस्तेमाल किया गया है. इसके सहज समाधान के तौर पर, मेज़बान देश फ्रांस ने बताया कि मुद्रण (typographical) सम्बन्धी त्रुटि है, जिसके बाद यह समझौता, आम सहमति से पारित हो गया.
     
  • 10) c) मानवता के लिये ‘कोड रैड’. 66 देशों के 234 वैज्ञानिकों द्वारा तैयार की गई यह रिपोर्ट दर्शाती है कि मानवीय गतिविधियों के कारण जलवायु में अभूतपूर्व गर्माहट दर्ज की गई है, जोकि पिछले दो हज़ार सालों में दर्ज नहीं की गई. यूएन प्रमुख ने कहा, “ख़तरे की कानफोड़ू घण्टियाँ बज रही हैं और तथ्यों को नकारा नहीं जा सकता.” उन्होंने सितम्बर में ‘United in Science’ रिपोर्ट पेश करते हुए कहा कि जलवायु जलवायु कार्रवाई के लिये दुनिया एक बेहद अहम मोड़ पर पहुँच गई है. महासचिव गुटेरेश ने संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम की ‘Emissions Gap’ रिपोर्ट जारी करते हुए आगाह किया था कि हम अब भी जलवायु विनाश की दिशा में बढ़ रहे हैं.

Share this story