माली में यूएन शान्तिरक्षकों के काफ़िले पर हमले की कठोर निन्दा

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने माली में शनिवार को यूएन शान्तिरक्षकों पर हुए हमले की निन्दा की है. इस घटना में माली में यूएन मिशन (MINUSMA) में सेवारत मिस्र के एक शान्तिरक्षक की मौत हो गई है और चार अन्य गम्भीर रूप से घायल हुए हैं. 

यूएन प्रमुख ने पीड़ितों के परिवारजनों, मिस्र की सरकार और स्थानीय जनता के प्रति अपनी गहरी सम्वेदना जताई है. 

उन्होंने इस हमले में घायल हुए शान्तिरक्षकों के जल्द से जल्द स्वस्थ होने की कामना की है.  

यूएन प्रमुख ने आगाह किया है कि शान्तिरक्षकों को निशाना बनाये जाने की घटना को अन्तरराष्ट्रीय क़ानून के तहत युद्धपराध की श्रेणी में रखा जा सकता है.

उन्होंने माली प्रशासन से हमले के दोषियों को न्याय के कटघरे तक लाने के प्रयासों में कोई कसर नहीं छोड़े जाने का आग्रह किया है.

यूएन मिशन ने एक वक्तव्य में कहा है कि माली के अशान्त किडाल क्षेत्र के एक इलाक़े से शान्तिरक्षकों का काफ़िला गुज़रते समय, उसके आईईडी विस्फोटक की चपेट में आने से धमाका हो गया.

MINUSMA मिशन के प्रमुख और महासचिव के विशेष प्रतिनिधि ऐल-घ़ासिम वाने ने भी हमले की कड़े शब्दों में निन्दा की है. 

उन्होंने कहा है कि यह दुखद ढँग से ध्यान दिलाता है कि शान्तिरक्षकों पर स्थाई रूप से ख़तरा मौजूद है और कि माली में शान्ति के लिये वे कितना बलिदान कर रहे हैं. 

ख़तरनाक हालात

यूएन शान्तिरक्षकों के लिये माली सबसे ख़तरनाक जगहों में है, और पिछले एक साल में यहाँ दो बार सैन्य तख़्तापलट हो चुका है. 

देश में सुरक्षा हालात बेहद ख़राब हैं और राज्यसत्ता संस्थाएँ कमज़ोर हो गई हैं. 

माली के उत्तर और मध्य इलाक़ों में हथियारबन्द गुटों द्वारा आम नागरिकों व यूएन कर्मचारियों पर हमले जारी हैं और सामुदायिक हिंसा की घटनाएँ भी बढ़ रही हैं. 

माली में मानवाधिकारों की स्थिति पर संयुक्त राष्ट्र के एक स्वतंत्र विशेषज्ञ के मुताबिक़ बढ़ती हिंसा से देश के अस्तित्व के लिये ख़तरा बढ़ रहा है.

यूएन मिशन प्रमुख ने इस हमले में जान गँवाने वाले शान्तिरक्षक को श्रृद्धान्जलि अर्पित की है और बताया है कि घायल शान्तिरक्षकों के लिये आवश्यक देखभाल सुनिश्चित की जा रही है.

उन्होंने ज़ोर देकर कहा कि इस कायरतापूर्ण हमले के बाद, माली और स्थानीय जनता को समर्थन प्रदान करने का यूएन मिशन का संकल्प मज़बूत हुआ है. देश में शान्ति व स्थिरता लाने के लिये प्रयासों को जारी रखा जाएगा. 

Share this story