मध्य पूर्व: पूर्वी येरूशेलम में हिंसा वृद्धि पर चिन्ता, शान्ति बनाए रखने की पुकार

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंतोनियो गुटेरेश सहित, अनेक वरिष्ठ अधिकारियों ने येरूशेलम में मुसलमानों और यहूदियों के बहुत अहम धार्मिक स्थल – अल अक़्सा परिसर में हिंसक घटनाओं में बढ़ोत्तरी पर चिन्ता व्यक्त की है.

मीडिया ख़बरों के अनुसार, शुक्रवार को फ़लस्तीनियों और इसराइली पुलिस के बीच झड़पों में 150 से ज़्यादा लोग घायल हो गए. ये घटनाएँ ऐसे समय हुई हैं जब इसराइली-फ़लस्तीनी सम्बन्धों में तनावों का दौर चल रहा है.

फ़लस्तीनी रैडक्रॉस क्रेसेंट के अनुसार, ज़्यादा फ़लस्तीनी लोग इसराइली पुलिस द्वारा चलाई गईं रबर की गोलियों, स्टन हथगोलों और पुलिस की लाठियों से घायल हुए हैं. जबकि इसराइली पुलिस ने भी पथवार में अपने तीन अधिकारियों के घायल होने की ख़बरें दी हैं.

ख़बरों के अनुसार, इस परिसर में ये झगड़े ऐसे समय में हुए हैं जब इसराइल में हाल के समय में रॉकेट दागे जाने से कम से कम 14 लोगों की मौत हुई है. 

उसके बाद के हालात में इसराइली बलों द्वारा क़ाबिज़ फ़लस्तीनी क्षेत्र – पश्चिमी तट में मारे गए छापों के दौरान 25 फ़लस्तीनियों की मौत हुई है.

शान्ति की पुकार

यूएन प्रमुख एंतोनियो गुटेरेश के प्रवक्ता स्तेफ़ान दुजैरिक ने शुक्रवार को एक सन्देश जारी करके कहा कि महासचिव ने सभी पक्षों के नेताओं से बदतर होते हालात को शान्त करने में मदद की अपील की है. 

उन्होंने साथ ही ज़ोर देकर कहा है कि पवित्र धार्मिक स्थलों पर हालात और ज़्यादा बिगड़ने से रोकने के लिये, भड़काऊ कार्रवाई तुरन्त रोकी जानी होगी.

यूएन प्रमुख ने इस सन्देश में कहा है कि येरूशेलम में पवित्र धार्मिक स्थलों पर यथास्थिति क़ायम रहनी चाहिये और उसका सम्मान किया जाना चाहिये.

यूएन महासचिव ने संघर्ष को, संयुक्त राष्ट्र के प्रासंगिक प्रस्तावों, अन्तरराष्ट्रीय क़ानून, और द्विपक्षीय समझौतों के आधार सुलझाने में फ़लस्तीनियों और इसराइलियों को अपना समर्थन फिर दोहराया है.

भड़काऊ बयानबाज़ी से बचें

मध्य पूर्व शान्ति प्रक्रिया के लिये संयुक्त राष्ट्र के विशेष संयोजक टॉर वैनेसलैण्ड ने एक अलग वक्तव्य में, सभी पक्षों के राजनैतिक, धार्मिक और सामुदायिक नेताओं से स्थिति को शान्त बनाए रखने में मदद करने का आहवान किया है. 

उन्होंने साथ ही, भड़काऊ बयानबाज़ी फैलाने से बचने और दंगा भड़काने वालों के ख़िलाफ़ आवाज़ बुलन्द करने की भी पुकार लगाई है.

विशेष संयोजक ने आगाह करते हुए कहा कि तनाव बढ़ने देने से, स्थिति के और ज़्यादा विस्फोटक होने का जोखिम बढ़ेगा. 

उन्होंने दोनों पक्षों के अधिकारियों से भी स्थिति को तुरन्त तनावरहित बनाने और अतिवादी तत्वों द्वारा स्थिति को और ज़्यादा भड़काने से रोकने के लिये तुरन्त कार्रवाई करने का आग्रह किया है. 

टोर वैनेसलैण्ड, स्थिति को शान्त बनाने के लिये, महत्वपूर्ण क्षेत्रीय हस्तियों, साझीदारों और पक्षों के साथ निकट सम्पर्क बनाए हुए हैं.

Share this story