भारत: ‘एकमात्र पृथ्वी’ की रक्षा के लिये, संयुक्त राष्ट्र और निकिलोडियोन का सफ़ाई अभियान

विश्व पर्यावरण दिवस की #OnlyOne Earth थीम के तहत, भारत में संयुक्त राष्ट्र और कार्टून चैनल निकोलोडियोन ने मिलकर, पृथ्वी की रक्षा के लिये स्वच्छता मुहिम में हिस्सा लिया. इस अवसर पर निकोलोडियोन के मशहूर कार्टून,मोटू और पतलू व संयुक्त राष्ट्र पृथ्वी चैम्पियन अफ़रोज़ शाह ने साथ मिलकर भारत की वित्तीय नगरी, मुम्बई में समुद्र तट की सफ़ाई करके, लोगों से कूड़ा न फैलाने की अपील की.

अवसर था, विश्व पर्यावरण दिवस का, और थीम थी - #OnlyOneEarth. ऐसे में, भारत में संयुक्त राष्ट्र के पृथ्वी चैम्पियन अफ़रोज़ शाह और कार्टून चैनल निकोलोडियोन के कार्टून पात्र, मोटू व पतलू ने मुम्बई के वर्सोवा समुद्र तट पर फैला कचरा इकट्ठा करके, लोगों को स्वच्छता के लिये प्रेरित किया.

इस कार्य में मोटू और पतलू की भागीदारी पर अफ़रोज़ शाह ने कहा, "यह याद रखना महत्वपूर्ण है कि हमारे पास कोई दूसरा ग्रह नहीं है, और इसलिये हमें, भविष्य के लिये, जो हमारे पास है, उसी की रक्षा करनी होगी. समय आ गया है कि हम अपने कार्यों को देखें और अपने कार्बन पदचिन्हों को कम करने के लिये स्थाई प्रथाओं को अपनाएँ. मैं मानता हूँ कि बच्चे परिवर्तन के महत्वपूर्ण कारक बन सकते हैं और रोज़मर्रा के कार्यों के ज़रिये अहम बदलाव ला सकते हैं. उनके पसन्दीदा निकिलोडियोन पात्रों से प्रोत्साहन मिलना, उन्हें बदलाव के वही चैम्पियन बनने के लिये प्रेरित करेगा!"

निकिलोडियोन, बच्चों के बीच सकारात्मक व्यवहार परिवर्तन लाने और निकटून के प्रभाव का लाभ उठाकर उनके मूल्यों को आकार देने के लिये लगातार प्रयास करता रहा है. इस पहल का उद्देश्य था - बच्चों को समुद्र तटों जैसे सार्वजनिक स्थानों पर कूड़ा फेंकने से रोकने और पर्यावरण व समुद्री जीवन पर प्लास्टिक के प्रयोग के प्रभाव के बारे में जागरूक करना.

'अफ़रोज़ शाह फाउण्डेशन’ के संस्थापक, अफ़रोज़ शाह, संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम के पृथ्वी चैम्पियन और एक युवा परिवर्तनकारी हैं, जो समुद्र तटों, महासागरों, नदियों और मैंग्रोव को कचरे और उपेक्षा से उबारकर, पुनर्बहाली की ओर ले जाने के प्रयास कर रहे हैं.

 

Share this story