प्रथम ट्रेलब्लेज़र पुरस्कार – CAR में तैनात महिला न्याय व सुधार अधिकारी को

मध्य अफ़्रीकी गणराज्य (CAR) में संयुक्त राष्ट्र मिशन - MINUSCA में सेवारत बुर्कीना फ़ासो की महिला पुलिस अधिकारी टेने मायमूना ज़ोऊनगराना को, प्रथम यूएन ट्रेलब्लेज़र पुरस्कार से सम्मानित किया गया है. यह पुरस्कार महिला न्याय व सुधार अधिकारियों के लिये शुरू किया गया है.

टेने मायमूना ज़ोऊनगराना को यह पुरस्कार, मंगलवार को न्यूयॉर्क स्थित यूएन मुख्यालय में दिया गया.

टेने मायमूना ज़ोऊनगराना ने मध्य अफ़्रीकी गणराज्य की सबसे बड़ी और पुरुषों के दबदबे वाली उच्च सुरक्षा जेल के भीतर, दंगा नियंत्रण गतिविधियों की अगुवाई के लिये, केवल महिलाओं से गठित एक कार्रवाई टीम बनाई, जिसे इस पुरस्कार के लिए असाधारण नेतृत्व समझा गया.

यूएन महासचिव एंतोनियो गुटेरेश के कार्यकारी कार्यालय के प्रभारी कोर्टेने रैट्टरे ने, यूएन प्रमुख की तरफ़ से ये पुरस्कार, टेने मायमूना ज़ोऊनगराना को पेश किया.

संयुक्त राष्ट्र के शान्ति अभियानों के मुखिया जियाँ पियर लैक्रोआ और यूएन महिला संस्था की कार्यकारी निदेशिका सीमा समी बहाउस ने भी इस मौक़े पर अपनी बात कही.

टेने मायमूना ज़ोऊनगराना पहली बार मध्य अफ़्रीकी गणराज्य में बहुकोणीय एकीकरण स्थिरता मिशन में 2014 से 2017 तक सेवारत रहीं, और मिशन के साथ उनकी मौजूदा भूमिका 2022 में शुरू हुई.

संकटों में नेतृत्व

यूएन शान्तिरक्षा विभाग ने इस पुरस्कार की घोषणा करने वाली विज्ञप्ति में कहा है कि टेने मायमूना ज़ोऊनगराना, यूएन मिशन में सर्वाधिक कठिन कार्यों में सहायता मुहैया कराती हैं और वो है – देश में कारागार प्रणालियों का विसैन्यीकरण.

टेने मायमूना ज़ोऊनगराना देश के बांगुई में स्थित केन्द्रीय कारागार में दंगा नियंत्रण गतिविधियाँ चलाती हैं और त्वरित कार्रवाई का नेतृत्व करती हैं. 

यह देश का सबसे बड़ा कारागार है और यहाँ उच्च जोखिम वाले बन्दियों को रखा जाता है जिसके कारण इसे देश की सबसे ख़तरनाक जेल माना जाता है, जहाँ केवल पुरुष बन्दी ही रखे गए हैं.

इस कारागार में लगभग 1,335 बन्दी हैं जोकि देश भर में तमाम जेलों में रखे गए बन्दियों की लगभग 70 प्रतिशत संख्या है.

टेने मायमूना ज़ोऊनगराना ने संकटों से निपटने में अपनी महारत के साथ, संयुक्त राष्ट्र के अनेक सहयोगियों व देश के राष्ट्रीय कारागार स्टाफ़ को प्रशिक्षित किया है, और केवल महिलाओं से बनी एक त्वरित कार्रवाई टीम गठित की है.

दकियानूसी सोच से हटकर

टेने मायमूना ज़ोऊनगराना ने इस नए पुरस्कार के लिये अपना नाम चुने जाने की ख़बर सुनने के बाद कहा, “कारागार सुरक्षा हमेशा ही कुछ दकियानूसी सोच व प्रथाओं से जोड़कर देखी जाती रही है जिसने महिला कारागार प्रशासकों के विकास को बाधित किया है.”

उन्होंने कहा, “मुझे ये देखकर बहुत प्रसन्नता हो रही है कि आज महिलाओं को भी कारागार में काम करने, और किसी भेदभाव के बिना, तमाम भूमिकाएँ निभाने के अवसर दिये जा रहे हैं, इस पर मैं सशक्त महसूस कर रही हूँ.“

टेने मायमूना ज़ोऊनगराना ने इस पुरस्कार के लिये चुने जाने पर मई में यूएन न्यूज़ के साथ ख़ास बातचीत में रेखांकित किया था कि महिलाओं को जब सुधार अधिकारी के रूप में काम करने की ज़िम्मेदारी दी जाती है, तो उन्हें या तो दूसरे नम्बर पर रखा जाता है, या उनकी अनदेखी की जाती है.

बुर्कीना फ़ासो की टैने मायमूना ज़ोऊनगराना, मध्य अफ़्रीकी गणराज्य (CAR) में यूएन मिशन - MINUSCA में सेवारत हैं.
United Nations
बुर्कीना फ़ासो की टैने मायमूना ज़ोऊनगराना, मध्य अफ़्रीकी गणराज्य (CAR) में यूएन मिशन - MINUSCA में सेवारत हैं.

प्रमुख सिद्धान्त

यूएन महिला संस्था की कार्यकारी निदेशिका सीमा समी बहाउस ने ध्यान दिलाया कि आज शान्ति, न्याय और लैंगिक समानता के लिये, दूसरे में गुँथे हुए जोखिमों दरपेश हैं, जिन्होंने वर्षों की प्रगति को ख़तरे में डाल दिया है. 

उन्होंने कहा कि अब यह पहले से कहीं ज़्यादा अहम है कि संयुक्त राष्ट्र, निष्पक्षता व समानता के अपने बुनियादी मूल्यों पर फिर से ग़ौर करे. ये इसके साथ शुरू होता है कि ज़्यादा महिलाओं को नेतृत्व व निर्णय-निर्माण भूमिकाएँ दी जाएँ.

एक अन्य बाधा को तोड़ना

यूएन ट्रेलब्लेज़र पुरस्कार 2022 में शुरू किया गया है जिसे संयुक्त राष्ट्र के शान्ति अभियानों के विभाग में, विधि के शासन और सुरक्षा संस्थानों के कार्यालय में, न्याय और सुधार सेवा ने शुरू किया है.

इस पुरस्कार का उद्देश्य ऐसी असाधारण महिला न्याय और सुधार अधिकारियों के कामकाज को सम्मानित करना है जिन्होंने कठिन व ख़तरनाक सन्दर्भों में लैंगिक बाधाएँ तोड़ी हैं और ये साबित किया है कि महिलाएँ, टिकाऊ शान्ति निर्माण के शासनादेश में, हर एक अभियान का अति महत्वपूर्ण हिस्सा हैं.

Share this story