डीआरसी: यूएन शान्तिरक्षकों के आक्रामक व्यवहार पर गुटेरेश अति क्रोधित, जवाबदेही की पुकार

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंतोनियो गुटेरेश ने, काँगो लोकतांत्रिक गणराज्य (DRC) और यूगाण्डा की सीमा पर रविवार की सुबह हुई एक गम्भीर घटना पर, आक्रोष व्यक्त किया है जिसमें कुछ यूएन शान्तिरक्षकों द्वारा गोलीबारी किये जाने की घटना शामिल है, जिसमें दो लोगों की मौत हो गई और कुछ अन्य घायल हो गए.

यूएन प्रमुख के उप प्रवक्ता फ़रहान हक़ ने बताया है कि काँगो लोकतांत्रिक गणराज्य (DRC) में यूएन स्थिरता मिशन (MONUSCO) में तैनात सैन्य कर्मियों ने, उत्तरी कीवू प्रान्त के कासिण्डी इलाक़े में उस समय गोलियाँ चलाईं, जब वो अपने मूल देश में छुट्टियाँ बिताकर वापिस लौट रहे थे.

मीडिया ख़बरों में कहा गया है कि यूएन शान्तिरक्षकों ने दो लोगों को मार दिया और कई अन्य को घायल कर दिया.

उप प्रवक्ता फ़रहान हक़ ने एक वक्तव्य जारी करके कहा है, “महासचिव इस घटना में हताहत हुए लोगों के लिये बहुत दुखी और हताश हैं.”

एंतोनियो गुटेरेश ने प्रभावित परिवारों, देश के लोगों और काँगो की सरकार के साथ अपनी गहन सम्वेदनाएँ व्यक्त की हैं, और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना भी की है.

अस्पष्ट कारण

संयुक्त राष्ट्र के विशेष प्रतिनिधि और काँगो में यूएन स्थिरता मिशन – MONUSCO की मुखिया बिन्तोऊ केईटा का कहना है कि मिशन की हस्तक्षेप ब्रिगेड के सैनिकों ने, सीमा चौकी पर जिन कारणों से गोलियाँ चलाईं, अभी उनके बारे में ठोस जानकारी उपलब्ध नहीं है.

उन्होंने कहा, “इस गम्भीर घटना ने, जीवन की हानि की है और अनेक लोगों को घायल किया है.”

बिन्तोऊ केईटा ने इस घटना में जीवन की हानि और लोगों के हताहत होने पर सदमे व हताशा व्यक्त की है और हताहतों के परिवारों के साथ अपनी गहन सम्वेदना व्यक्त की है. साथ ही घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना भी की है.

जवाबदेही तय करें

इस बीच यूएन महासचिव ने इस घटना के ज़िम्मेदारों की जवाबदेही निर्धारित करने के लिये, कठोरतम शब्दों में ज़ोर दिया है.

संयुक्त राष्ट्र ने सम्बन्धित शान्तिरक्षकों के मूल देश के साथ सम्पर्क साधा है ताकि दौरान पीड़ितों और चश्मदीद गवाहों की भागीदारी सुनिश्चित करते हुए, ज़िम्मेदारों के ख़िलाफ़ न्यायिक कार्रवाई शुरू की जा सके और उपयुक्त प्रतिबन्ध लागू किये जा सकें.

काँगो में यूएन स्थिरता मिशन की प्रमुख ने उन सैनिकों के व्यवहार को “अकथनीय और ग़ैरज़िम्मदार” क़रार देते हुए कहा कि ज़िम्मेदार सैनिकों की पहचान करके उन्हें गिरफ़्तार कर लिया गया है – और काँगो के अधिकारियों के सहयोग से, पहले ही जाँच शुरू कर दी गई है जिसके जल्द ही पूर्ण होने की प्रतीक्षा है.

यूएन महासचिव ने यूएन स्थिरता मिशन (MONUSCO) के इन शान्तिरक्षकों को गिरफ़्तार किये जाने और तुरन्त ही जाँच शुरू करने के, मिशन प्रमुख के निर्णय का स्वागत किया है.

Share this story